Read more

A Poem on Father's Day| वो ज़ईफ़ शजर

A Poem on Father's Day| वो ज़ईफ़ शजर मिरे पुराने मकान की टूटी दीवारों पे इक चिड़िया आती थी रोज़ाना , वहीं बसत…

A Poem of Finding your True Self & Love-Pursuit-परसूट

A Poem of Finding your True Self & Love-Pursuit-परसूट मैं   तुम्हें   उस   वक़्त   कुछ   देना   चाहूँगा जब   मेरे   पास   …

Load More
That is All